बेनाम कोहड़ाबाज़ारी उवाच

अजय अमिताभ सुमन उर्फ़ बेनाम कोहड़ा बाजारी

175 Posts

2 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 25176 postid : 1334730

वज़ह-बेनाम कोहड़ा बाज़ारी

Posted On 12 Jun, 2017 कविता में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जो दिख रहा इंसान, कहाँ होता है,
जो जिस्म के पीछे, वजह होता है।

बेनाम कोहड़ा बाज़ारी
उर्फ़
अजय अमिताभ सुमन

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran